Website क्या होती है ? और इसके प्रकार और फायदे

नमस्ते, शायद आपको पता होंगा की वेबसाइट क्या होती है? और आपने अभी तक वेबसाइट नही देखी, एसा तो नहीं सकता।  क्युकी आप ये ब्लॉग पोस्ट एक वेबसाइट पर पढ रहे हो,जिसका नाम Digiskillsindia.com है । 

आप जानते होंगे की, Website क्या होती है? पर सायद आपको वेबसाइट के बारे में सारी जानकारी नहीं होंगी। इसीलिए आप हमारा ये ब्लॉग पोस्ट पढ रहे हो। तो आप इस ब्लॉग पोस्ट में सारी जानकारी जानोगे वेबसाइट के सम्बंधित, और हमें ये चीज जननी भी जरुरी है। क्युकी हम डिजिटल वर्ड में जी रहे है।

तो आप इस ब्लॉग पोस्ट को स्टार्टिंग से लेकर एंड तक पूरी तरह से पढ़े और अच्छे से समजे। आपको जरूर नई चीज जानने को इस ब्लॉग पोस्ट से मिलेगी।

इस ब्लॉग पोस्ट में हम जानेगे की, वेबसाइट क्या होती है? वेबसाइट के कौन-कौनसे प्रकार होते हैं ?वेबसाइट को बनाने के लिए किस चीज की जरूरत होती है? मतलब जो भी इसके बेसिक है। उन सब चीजों के बारे में इस ब्लॉग पोस्ट में हम पूरा जानने वाले हैं। तो शुरू करते हैं सबसे पहले जानते हैं की वेबसाइट क्या होती है ।

इस पोस्ट में हम इसके बारे में जानेगे

  1. वेबसाइट क्या होती है ? (What is Website in Hindi)
  2. वेबसाइट का इतिहास
  3. वेबसाइट के प्रकार
  4. Types of Web Page in Hindi
  5. website बनाने के फायदे
  6. वेबसाइट कैसे बनाते है ?
  7. website के सम्बंदित कुछ जरूरी परिभाषाये
  8. इस पोस्ट में हमने इन चीजों के बारे में जाना?
  9. संबंधित प्रश्न

1) वेबसाइट क्या होती है ? (What is Website in Hindi)

वेबसाइट का मतलब

अगर हम आसान भाषा में जाने की वेबसाइट क्या होती है तो , “ वेबसाइट दो या दो से अधिक Webpage का कलेक्शन होता है। या समूह होता है जोकि एक डोमेन नेम को प्रेजेंट करता है। और जोकि एक ही डोमेन नेम पर चल रहे हो उसी को हम वेबसाइट कह सकते हैं ।

जैसे कि आप हमारे एक पेज पर इस ब्लॉग पोस्ट पढ़ रहे हो। और इसी प्रकार से हमारे बाकी ब्लॉग पोस्ट के पेज है, और यह सारे को मिलाकर जो भी बनी वही है हमारी वेबसाइट, जिसका नाम ‘Digiskillsindia.com‘ है। इसी प्रकार आपको बाकी वेबसाइट में भी दिखाई देगा, चाहे वह फेसबुक को चाहे वह गूगल हो या कोई और वेबसाइट हो ।

और इस बात से फरक नहीं पड़ता कि उस वेबसाइट में कितने पेज है , उसमें सिर्फ दो भी वेबपेज होंगे तब भी हम उसे वेबसाइट मान सकते है। और अगर किसी वेबसाइट में करोड़ों पेज भी हुए तो उससे भी वेबसाइट ही कहते हैं।

अब आप सोच रहे होंगे की आखिर ये वेबपेज क्या होते हैं? तो ” वेबपेजेस का मतलब होता है की वेबसाइट के पेज। ” आप जब भी गूगल में सर्च करते हैं तब आपके सामने कुछ रिजल्ट आते हैं, कुछ Links आते हैं यह Links वेबसाइट की किसी न किसी पेज के ही होते हैं। जैसेकी किसी बुक में पेजस होते हैं। उसी प्रकार वेबसाइट में भी पेज होते हैं उसे ही वेबपेजेस कहा जाता है।

2) वेबसाइट का इतिहास (History of Website in Hindi)

website का इतहास

वेबसाइट का इतहास शुरू होता है, इंटरनेट सुरु होने के कुछ सालो बाद, १९६९ में इंटरनेट शुरु हुवा, १८८९ में इसपर बहुत चर्चा हुइ। और बहुत सारी Research और Development के बाद 1991 से 1993 के बिच में शुरुवात हुई WWW यानी World Wide Web की ।

अब आप जिस प्रकार वेबसाइट देख रहे हो, उस प्रकार वेबसाइट नहीं थी, ना तो इसप्रकार फोटो, विडियो या डिज़ाइन थी वहारपर, सिर्फ टेक्स्ट ही टेक्स्ट था। info.cern.ch यह है दुनिया की सबसे पहेली वेबसाइट है। इससे आपने अनुमान लगा ही लिया होंगा की आखिर तब वेबसाइट कैसी होती होंगी ।

WWW की देखभाल के लिए १९९४ में W3C की सुरुवात हुई। तब इससे बहुत सारी Development हुई, कुछ Browser विकसित हुए। और देखते – देखते बहुत सारी वेबसाइट और browser बानने लगे। और धिरे-धिरे वेबसाइट विकसित होनी सुरु हो गयी इसमें css, javascript इसका इस्तमाल करना सुरु हुवा।

3) वेबसाइट के प्रकार

Website के प्रकार

वेबसाइट बहुत सरे प्रकार की होती है हमने निचे कुछ जरुरी वेबसाइट प्रकार के बारे में बताया है। इसके आलव भी कुछ प्रकार हो सकते है।

1) Ecommerce/Shop Website

Ecommerce Website इस प्रकार की वेबसाइट का इस्तमाल आपने कुछ चीजे खरीदने के लिए जरुर किया होंगा। तो Ecommerce वेबसाइट एसी जगह जहापर आप किसी चीज को ऑनलाइन खरीद और बेच सकते है। Ecommerce वेबसाइट के कुछ बड़े उदाहरन है जैसे Flipkart और Amazon.

2) Social Media

Social media यह ऐसी वेबसाइट होती है, जहापर लोग ऑनलाइन Social Connect बनाते है। मतलब लोग वहापर जाकर आपनी जानकारी और Content shear करते है, दोस्त बनते है उनसे बाते करते है , किसीकी जानकारी और Content पर हम हमरी राय देते है। इसीको Social Media वेबसाइट कहा जाता है, जैसे की Facbook और इसके जैसे बाकी वेबसाइट।

3) Sarvice Website

यह एसी वेबसाइट होती जहापर लोग आपनी सर्विस बेचते है। या आपनी सर्विस की जानकारी देते है। जैसे अगर कोही कंपनी डिजिटल मार्केटिंग सर्विस देती है, तो वो आपनी सर्विसे के लिए वेबसाइट बनाएंगे, जहापर वो आपनी सर्विस बेच पाए। इसको सर्विस वेबसाइट कहा जता है।

4) Tools Website

Tools Website एसी वेबसाइट होती जो की किसी Specific काम करने में मदद करता है। यह Software या Application की तरह कम करने वाली एक वेबसाइट है इसको Tools Website कहा जाता है। जैसे की कोही Video Download करनेकी वेबसाइट तो उसे Tools Website कहा जाएगा ।

5) Blog

यह एसी वेबसाइट होती है जहापर लोग आपना ब्लॉग डालते है। मतलब आपको जिस चीज के बारे पता है उसके बारेमे लोगोको Text रूप में बताते है। हमरी यह वेबसाइट भी एक ब्लॉग वेबसाइट है जहापर आपको डिजिटल मार्केटिंग, और इस डिजिटल दुनिया के डिजिटल skills के बारे में बताया जाता है।

6) Educational Website

यह वेबसाइट ज्यादा तर स्कूल, College की होती है जहापर Educational Content Shear किया जाता है। और कही वेबसाइट एसी भी होती है जहापर कोर्स होते। तो आगर हम आसान भाषामें कहे तो जिस वेबसाइट का मोटिव Education देना होता है उसे हम Educational Website कहते है, जैसे की coursera.

7) News वेबसाइट

News वेबसाइट एसी वेबसाइट होती जहापर न्यूज़ मतलब समाचार डाले जाते है। जैसे की NDTV और बाकि न्यूज़ वेबसाइट।

8) Search Engine

अपने यहापर आने के लिए जिस वेबसाइट पर सर्च वही है सर्च Engine तो सर्च Engine का मतलब होता है। जहापर आप आपनी Query सर्च करते हो और वेबसाइट उसके हिसाबसे कुछ लिंक परिणाम पर दिखता है। उसी को कहा जाता है सर्च Engine जैसे की Google, Bing.

9) Portfolio Website

ये वेबसाइट ज्यादा तर Personal Website होती है, जहापर उस Person की पूरी जानकारी होती है। जैसे की उसकी Education, उसकी जॉब इसके बारे में उसने डाला होता है।

10) Portal Website

पोर्टल वेबसाइट इन प्रकार की होती है, जहापर एक पोर्टल बना होता है यह वेबसाइट किसी खास उदेश बनायीं जाती है। जैसे किसी सरकारी योगना के लिए या फिर जॉब सर्च करने के लिए।

11) Other Websites Types

ऊपर जो प्रकार दिए गए इसके आलव भी वेबसाइट के प्रकार है, जीने अलग-अलग कामो के लिए इस्तमाल किया जाता है। पर ज्यदातर वेबसाइट इसी प्रकार की होती है।

4) Types of Web Page in Hindi

Static Web Page और  Dynamic Web Page इनके बिच का फर्क

जिस प्रकार वेबसाइट के प्रकार होते है, उसी प्रकार वेबपेज के भी प्रकार होते। इसके मुख्य 2 प्रकार होते है , उनमेसे पहला है Static Web Page और दूसरा Dynamic Web Page, अब इन दोनों को एक-एक कर समजते है।

A) Static Web Page

Static Web Page सरल वेबपेज होता है मतलब ये पेज दुनिया में कोहिभी इसको कहिसेभी देखे तो ये वेबपेज Same ही दिखेगा। मतलब ये पेज की सभी चीजे सभी के लिए same रहती है ।

Websites में यह वेबपेज दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तमाल किया जाता है, करीबन 99% क्युकी इसको बनाना बोहोत आसन है। और इसमें कम पैसे लगते है और वक्त भी कम लगता है ।

B) Dynamic Web Page

Dynamic Web Page यह एसा पेज होता है जहापर हर किसीको अलग interface देखनेको मिलता है। मतलब ये वेबपेज सबके के लिए Same ना होकर ये हर किसिके लिये अलग-अलग होता है।

एसी वेबपेज वाली वेबसाइट बोहोत कम है, क्युकी एसी वेबसाइट बनाना हर किसीके बस की बात नहीं है। इसके लिए ज्यादा पैसे, वक्त, और मेहनत की जरूरत पड़ती है।

Facebook, Pinterest, Instagram, Twitter, Linkedin एसी वेबसाइट Dynamic Web Page होती है।

5) Website बनाने के फायदे

website के फायदे हर किसी के लिए आलग होते है। क्युकी हर कोही उसको इस्तमाल अलग चीज के लिए करता है। तब भी हम कुछ फायदे जनत है तो निछ कुछ फायदे दिए गए उने आप पड़ सकते हो ।

  1. Website बनाकर आप आपने व्यापर (Business) को ऑनलाइन ले जा सकते हो।
  2. इसमें आप Blogging करके पैसे भी कमा सकते हो।
  3. अगर आप वेबसाइट बनाना सिख जाते हो तो आप लोगो की बनाकर दे सकते हो और इससे पैसे कमा सकते हो।
  4. आप आपनी ऑनलाइन दुकान खोल सकते हो जहापर लोग आए और जो उन्हें चाहिए वो खरीद सके।
  5. आप ऑनलाइन आपनी सर्विस , कोर्स बेछ सकते हो ।
  6. आप वेबसाइट बनकर बेचके पैसे कमा सकते हो ।
  7. आपको आगर आपना Portfolio बनाना है तो आप ये काम Portfolio वेबसाइट के जरिजे आपना Portfolio बनाकर कर सकते हो ।

6) वेबसाइट कैसे बनाते है ?

वेबसाइट कैसे बनते है ? ये सवाल आपके मन में आभी आरा होंगा। तो वेबसाइट बनाने के लिए हमरे पास एक ‘Domain’ हो चाहिए। यानी हमारे वेबसाइट का जो नाम उसे हमें Register करना होता है, तभी हमे Extensions मिलाता है, इसको हमारे वेबसाइट के नाम के आगे लगाकर जो बनता है उसे डोमेन कहा जाता है। और Domain के आलावाभी हमें एक चीज की जरूरत होती है वो है होस्टिंग या सर्वर मतलब एसा Computer जहापर आप आपनी वेबसाइट की फाइल रख सकते हो।

उसके ऊपर आपको Website Development Languages के इस्तमाल से वेबसाइट बनानी है। अब आपको आगर Website Development Languages नहीं आती तो आप वर्डप्रेस जैसे CMS का इस्तमाल करके बना सकते हो। यहापर वेबसाइट बनाना बोहोत आसन है।

अगर आपको कुछ भी नहीं पता तो आप Didiskillsindia Youtube Channel पर हमारा वेबसाइट Development का फ्री कोर्स हिंदी भाषा मे देख सकते हो।

7) Website के सम्बंदित कुछ जरूरी परिभाषाये

1) URL

URL का Full Form Uniform Resource Locator होता है। यह वेबसाइट का Address होता है मतलब हमें किसी वेबसाइट पे पोहोचने के लिए हमें उसकी url पता होना जरुरी है इसके आलावा आप वेबसाइट तक नहीं पोहोच सकते।

2) Domain Name

Domain Name आपके वेबसाइट का नाम होता है जिसको आपको एक Extensions के साथ Register करना होता है जैसे की .com, .in Etc.

3) Web Server/ Hosting

यह एसी जगह जहापर हम हमरी वेबसाइट रखते है। यह computer होता है जहापर वेबसाइट की सारी फाइलस, डाटा रखते है।

4) Search Engine

Search Engine एसी वेबसाइट होती है जहापर आप दुसरे वेबपेज को ढूंडने में मदद करता है जैसे को Google, Bing इत्यादी।

8) इस पोस्ट में हमने इन चीजों के बारे में जाना?

इस पोस्ट में हमने जाना की वेबसाइट होती क्या है ? इस्के बारेमें सारी चीजे विस्तारसे जानी।इसके बाद हमने इसका इतिहास जाना ये सुरु कैसे हुई इसके पिछेका पूरा इतिहास समजा।

और इसके साथ हमने जाना की वेबसाइट के कोनसे प्रकार है। इसमें हमने commerce/Shop Website, Social Media, Service Website, Service Website, Tools Website, Blog, Educational Website, News वेबसाइट, Search Engine, Portfolio Website, और Portal Website इन जैसे महत्वपूर्ण प्रकार जाना।

वेबपेज को और वेबपेज के प्रकार को इसमें हमने जाना है। इसके बाद इसके फायदे इसे कैसे बनाये ए सिखा और जानी कुछ जरुरी परिभाषाये तो इसप्रकार हमने सारा ज्ञान लिया वेबसाइट के बारेमें ।

9) संबंधित प्रश्न

1) Website बनाने में कितना खर्चा आता है ?

इसका कोही exact answer नहीं है। वेबसाइट फ्री में बनती है और लाखो, करोडो में भी बनती है। यह चीजे निर्बर करती है आपको कैसी वेबसाइट चाहिए, आप खुद बना रहे हो या फिर किसी और बनवा रहे है वो इनसारी चीजो पे ए निर्बर करता है।

3) HTML,CSS, and Javascript ये क्या है ?

यह Website Development Languages है। मतलब आपको वेबसाइट बनाने के लिए ये भाषा आनी जरुरी है यह भाषाए सिखाने में आसन है। यह भाषाए वेबसाइट की डिज़ाइन बनाने में काम आती ह।

3) What is website design in hindi?

Website Desing एक प्रकार की प्रक्रिया है, जिसमे हम Planning के साथ डिज़ाइन निछित करते है और बादमे उसी हिसाब से वेबसाइट आकार-प्रकार व रंग रूप देते है।

Leave a Comment

Close Bitnami banner
Bitnami