डिजिटल मार्केटिंग क्या है? (What is Digital Marketing in Hindi) इसका सम्पूर्ण ज्ञान

दुनिया Digital हो रही है, और इस के बीच मार्केटिंग के तारीखे भी बदल रहे है, इसलिए अब लोग Traditional Marketing से Digital Marketing के तरफ जा रहे है।

तो आज हम Digital Marketing के बारे में जानेगे की इसका क्या मतलब होता है? इसके कोणकोणसे प्रकार है? और इसके साथ डिजिटल मार्केटिंग की बहुत सारी चीजों के बारे में जानेगे।

तो सबसे पहले हम जानेंगे की ये क्या है? उसके बाद हम जानेगे ये चीज अस्तित्व में कैसे आई, इसका इतिहास क्या है? इसके बाद हम इसके प्रकार जानेंगे। ये होने के बाद हम Digital Marketing Career Scope और Digital Marketer कौन बन सकता है? इसके लिए किस चीज की जरूरत पड़ती है? आखिर में हम जानेंगे की आप Digital Marketing कहा से सिख सकते हो।

इस पोस्ट में हम इसके बारे में जानेंगे

  1. Digital Marketing क्या है?
  2. Digital Marketing के फायदे और Disadvantages
  3. Digital Marketing का इतिहास
  4. Digital Marketing के प्रका
  5. Digital Marketing Career Scope
  6. Digital Marketing कैसे सीखे?
  7. डिजिटल मार्केटिंग से संबंधित परिभाषा
  8. इस पोस्ट में हमने इन चीजों के बारे में जाना?
  9. संबंधित प्रश्न

1. Digital Marketing क्या है? (What is Digital Marketing in Hindi?)

What is Digital Marketing in Hindi?

Digital Marketing का क्या मतलब होता है? तो इसका मतलब होता है की हम किसी भी चीज ,service को डिजिटल चैनल के द्वारा, डिजिटल माध्यम के द्वारा लोगों तक पहुंचाना इसे ही हम सिंपल भाषा में डिजिटल मार्केटिंग कहते हैं।

यह एक मार्केटिंग का प्रकार है इसमें हम ट्रेडिशनल चीजों का Use न करते हुए, डिजिटल मीडिया (Digital Media) का Use करते है, इसीको इंटरनेट मार्केटिंग (Internet Marketing) और ऑनलाइन मार्केटिंग (Online Marketing) भी कहते है।

हम भी जाने या अनजाने में डिजिटल मार्केटिंग का यूज़ कभी ना कभी करते है, जैसे हमारे सर्विसेज हमारी प्रोडक्ट को हम सोशल मीडिया के द्वारा लोगों तक पहुंचाते हैं। यह भी कहीं ना कहीं डिजिटल मार्केटिंग का ही हिस्सा है। जो हम हमारे प्रोडक्ट सोशल मीडिया पर या फिर किसी भी डिजिटल माध्यम के जरिए लोगों तक, अपनी ऑडियंस (Target Audience) तक पहुंचाते हैं यह भी एक डिजिटल मार्केटिंग ही है।

2.Digital Marketing के फायदे और Disadvantages

Digital Marketing के फायदे और Disadvantages

A) Advantages of Digital Marketing in Hindi

  1. एक्सएक्ट Tracking की जा सकती है।
  2. कम पैसे में ज्यादा लोगो तक पहुंचा जा सकता है।
  3. दुनिया के किसी भी हिस्से में मार्केटिंग की जा सकती है।
  4. डिजिटल मार्केटिंग में हम Age, Language और पसंद के अनुसार Audience Target कर सकते है।
  5. इसमें आप कम समय में ज्यादा रिजल्ट ला सकते हैं।
  6. डिजिटल मार्केटिंग करने के लिए ज्यादा लोगो की जरूरत नहीं पड़ती।
  7. डिजिटल मार्केटिंग सीखने के लिए किसी स्पेसिफिक age और educational की जरूरत नहीं होती।
  8. इसमें फ्री में भी मार्केटिंग की जा सकती है।

हम डिजिटल मार्केटिंग Advantages को एक उदहारण के जरिए समझते है ।Digiskillsindia एक कंपनी है, जो Business Courses बनाने का काम करती है, अब ये कंपनी अपने कंपनी में कुछ लोग मार्केटिंग के लिए रखे हुए है।

ये हर जगह जाकर पोस्टर बटाते हैं ,और जो Startup, Business उनको डायरेक्टली जाकर उन्हें कोर्स के Advantages बताती हैं , मगर इसमें खर्चा भी बोहत आता है और Exactly ये भी समाज नहीं आता है की ये बंदा किसके द्वारा इसने कोर्स लिया, इसमे एक्सएक्ट Tracking नहीं हो होती है और रिच उस इलाके तक ही सिमित रहती है।

तब उन्हें डिजिटल मार्केटिंग के बारे में पता चला अब ये सॉइल मीडिया पर अपनी मार्केटिंग करने लगे इसेसे ये ज्यादा लोगो तक पोहचने लगे अब इनके पास कम खर्च में ज्यादा काम आने लगे। अब ये Tracking भी अछि तरीखे कर पा रहे है। यही है डिजिटल मार्केटिंग के advantages।

B) Disadvantages of Digital Marketing in Hindi

डिजिटल मार्केटिंग के ज्यादा तर फायदे ही है, वैसे कुछ खास Disadvantages नहीं है पर किसीभी चीज के दो पैलु होते है और हमें दोनों भी समजने जरुरी होते है। इसलिए डिजिटल मार्केटिंग के कुछ मेजर disadvantages हे जो निचे दिए गए है।

  1. डिजिटल मार्केटिंग अभी गांव और छोटे शहरों में इतनी कारीगर नहीं है, वहापे अभी भी ट्रेडिशनल मार्केटिंग ही चलती है।
  2. इसमें हम अपने Target Audience तक इंटरनेट और डिजिटल मीडिया के अलावा नहीं पोहच सकते है।
  3. यहाँ सब इंटरनेट पर होने के कारण Cyber Attack का भी खतरा रहता है।
  4. इसके कुछ प्रकार जैसे की SEO में Result आने बहुत समय लगता है।

3. Digital Marketing का इतिहास

Digital Marketing का इतिहास

पहले मार्केटिंग करने के लिए कंपनियां न्यूज़ पेपर , TV ADS , Salesman का
use करती थी। ये तरीखा बहुत दिन चला और अभी भी चल रहा है।

अब दिन बीतने लगे लोग इंटरनेट को समझने लगे, इंटरनेट का इस्तेमाल करने लगे ।Facebook, Twitter इन जैसे वेबसाइट बन नी लगी, लोग अपनी तस्वीरें अपनी जानकारी इन वेबसाइट पर डालने लगे। इन वेबसाइट के साथ लोग जुड़ने लगे। ज्यादा से ज्यादा लोग इसका इस्तेमाल सोशल कनेक्शन के लिए करने लगे।

इसके दूसरी तरफ गूगल बिंग जैसे सर्च इंजिन बनने लगे और लोग इस पर सर्च करने लगे।

अपना content बनाने लगे। तो अब कंपनियां भी इंटरनेट की तरफ बढ़ाने लगी। डिजिटल मार्केटिंग को पहले इंटरनेट मार्केटिंग ही कहते थे। तब डिजिटल मार्केटिंग शब्द अस्तित्व में ही नहीं था।

अब इंटरनेट का use हर व्यक्ति कर रहा है तो धीरे धीरे सब कंपन्या डिजिटल की तरफ बड़ रही हैं।

4. Digital Marketing के प्रकार (Types of Digital Marketing in Hindi)

Digital-Marketing-के-प्रकार-1
  1. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO)
  2. सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)
  3. पे-पर-क्लिक एडवरटाइजिंग (PPC)
  4. सोशल मीडिया मार्केटिंग (SMM)
  5. कंटेंट मार्केटिंग
  6. ईमेल मार्केटिंग
  7. एफिलिएट मार्केटिंग
  8. मोबाइल मार्केटिंग

1) सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO)

वेबसाइट पर Organic Traffic लाने या बड़ा ने के लिए हम जो भी प्रैक्टिसेज और प्रक्रिया करते इसे हम सिंपल भाषा में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) कहते हैं।

यह फ्री होता इसके लिए पैसे की आवश्यकता नहीं होती मतलब सर्च इंजन आपसे Ranking बढाने के लिए कोहिभी पैसे नहीं लेता वो सिर्फ content देखता है ।

2) सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)

Search Engine के अंदर हम जल्दी rank नहीं कर सकते, तो हम Search Engine को कुछ पैसे देते है तो वे यूजर को आपके कीवर्ड के अनुसार ADs के रूप में आपकी वेबसाइट सबसे ऊपर दिखता है। इसीको को हम सिंपल भाषा मे सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) कहते है।

यह फ्री नहीं होता इसमें हम सर्च इंजन को पैसे देते है उसके बदले में सर्च इंजन हमारे कीवर्ड पर Ads लगता है ।

3) पे-पर-क्लिक एडवरटाइजिंग (PPC)

आप आपने प्रोडक्ट के एडवर्टिसमेंट के लिए Advertiser वेबसाइट (कंपनी ) को पैसे देते है। और वे कंपनी अपनी या उसके पार्टनर के वेबसाइट पर बैनर , टेक्स्ट के रूप में Ads लगते है उसे ही हम पे-पर-क्लिक एडवरटाइजिंग (PPC) कहते है।

4) सोशल मीडिया मार्केटिंग (SMM)

अपने प्रोडक्ट या सर्विस को social media के द्वारा प्रमोट करना इसे ही हम सिंपल भाषा सोशल मीडिया मार्केटिंग (SMM) कहते है।

यहापर हम सोशल मिडिया Platform का इस्तमाल करते है, जैसे Facebook, instagram जैसे प्लेटफार्म यह फ्री नहीं होता। इसके लिए पैसे लगते है पर आप इसमें आप SMO करते हो तो पैसे नहीं लगते ।

SMO मतलब Social Media Optimization जैसे हम सर्च इंगिंग के लिए SEO करते है, उसी प्रकार सोशल मिडिया के लिए हम SMO करते है ।

5) कंटेंट मार्केटिंग

कंटेंट मार्केटिंग का मतलब होता है की हम मार्केटिंग करने के लिए कंटेंट Use करते है। जैसे वीडियो , इमेज ,और बाकि सब।

6) ईमेल मार्केटिंग

अपनी प्रोडक्ट के मार्केटिंग के लिए ईमेल का use करना इसेही हम ईमेल मार्केटिंग कहते है।

7) एफिलिएट मार्केटिंग

आपने प्रोडक्ट को बेचने पर कुछ कमीशन रखा। अब लोग उस चीज की मार्केटिंग करने लगे, तो उनके द्वारा आपका प्रोडक्ट बेचा गया तो उनको उसमे कुछ कमीशन मिला। इस प्रोसेस कोही हम एफिलिएट मार्केटिंग कहते है।

8) मोबाईल मार्केटिंग

अपने प्रोडक्ट या सर्विस के मार्केटिंग के लिए SMS,APPS इनका इस्तमाल करना इसे ही हम मोबाईल मार्केटिंग कहते है।

5. Digital Marketing Career Scope

Digital Marketing Career Scope

अब लोग डिजिटल के तरफ बढ़ने लग रहे, अब डिजिटल को समझने लगे हैं। लोग दिनब दिन इंटरनेट पे आ रहे हैं, तो इसमें बहुत बड़ा स्कोप हैं। अगर आप डिजिटल मार्केटिंग में आप अपना करियर बनाना चाहते तो बना सकते है। क्युकि बाहर के देशों में डिजिटल मार्केटिन के एक- एक विषय के ऊपर पीएचडी करते है ।

आप इसके एक-एक विषय में अपना करियर बना सकते हैं। जैसे की अगर सिर्फ seo की बात करे तो आप seo experts बन सकते हैं। तो ये बहुत बड़ी इंडस्ट्री है तो आप आसानी से करियर बना सकते है। इसमें आप जॉब कर सकते है, फ्रीलांसिंग और बिजनेस भी कर सकते हैं।

आप अपना खुद का ब्लॉग स्टार्ट कर सकते इसकी साथ आप Youtuber, Instagrammer बन सकते हैं।

एक डिजिटल मारकेटर की सैलरी ८००० से १०,००००० तक भी हो सकती है।

6. Digital Marketing कैसे सीखे?

डिजिटल मार्केटिंग आप ऑफलाइन या ऑनलाइन सिख सकते है। आप ऑनलाइन कोही कोर्स कर सकते है। या फिर आप ऑफलाइन भी कोही कोर्स कर सकते है। आप ऊपर वीडियो में दिया गया गूगल का फ्री डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स भी कर सकते है।

पर मेरी हमेशा से एक ही सला रहती की आप खुद चीजों को गूगल में या यूट्यूब सर्च करके डुंडे। यही सबसे बेस्ट तरीखा है डिजिटल मार्केटिंग सीखने का।

7. डिजिटल मार्केटिंग से संबंधित परिभाषा

१) Digital Channels

हम डिजिटल मार्केटिंग करने के लिए जिस डिजिटल Platform इस्तमाल करते है, उसे हम Digital Channels कहते है। हम यह कह सकते है, की डिजिटल चेंनेल एक जरिया है जिससे हम अपने Audience तक पोहचते है ।

2) Niche

Niche मतलब कोही Specific Segment यानी कोही Specific चीज, सर्विस पकडना इसका मतलब इसमे हम किसी एक चीज द्यान देते है। जैसे की डिजिटल मार्केटिंग एक Niche है जिसपर हम आपना ब्लॉग लिखते है ।

3) Target Audience

Target Audience का मतलब जो हमारे प्रोडक्ट सर्विस को जो ले सकते है एसे लोगोको हम Target Audience कहते है ।

8. इस पोस्ट में हमने इन चीजों के बारे में जाना?

इस पोस्ट हमने जाना की डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है। इसके क्या फायदे और Disadvantages क्या है ये जाना और इसके साथ हमने इसका इतिहास जाना क्या है उसके बाद इनके प्रकार देखे ये होने के बाद हमने इसमें क्या Career स्कोप है ये जाना और लास्ट में हमने डिजिटल मार्केटिंग कहासे और कैसे सीखे ये जाना। इस प्रकार हमने डिजिटल मार्केटिंग का सम्पूर्ण ज्ञान इस पोस्ट में लिया।

9. संबंधित प्रश्न

Q1. क्या डिजिटल मार्केटिंग कोई भी सीख सकता है ?

हा डिजिटल मार्केटिंग कोही भी सीख सकता मगर उसको थोड़ा बहुत मार्केटिंग की नॉलेज होना जरुरी है। ये नहीं तो भी चलेगा पर आपको इसमें इंटरेस्ट होना जरूरी है और पेशेंस सबसे ज्यादा जरूरी है।

Q2. डिजिटल मार्केटिंग सीखने के लिए कितने दिन लगते है ?

इसका कोही सटीक जवाब नही है , ये पूरी तरह से निर्भर करता आपके श्रम पर। Digital Marketing सीखने के लिए करीबन ६ महीने से १ साल तक लग सकता है। और इसमें Pro बनने के लिए ३ साल तक लग सकते है।

Q3. डिजिटल मार्केटिंग किसे सिखणी चाहिए?

जैसे मार्केटिंग में इंटरस्ट है और डिजिटल में भी उसे इंटरस्ट होना चाहिए उसेही डिजिटल मार्केटिंग करना चाहिए।

Q4. डिजिटल मार्केटिंग जॉब में कितनी सैलरी होती है ?

डिजिटल मार्केटिंग में fresher की सैलरी १०-१५००० महीने तक होती और pro की सैलरी १०००००० तक हो सकती है।

Q5. डिजिटल मार्केटिंग से हमारे Business को क्या फायदा है ?

मार्केटिंग हर Business के लिए जरुरी होती है है पर अगर हम Traditional marketing की बात करे तो उसमे होत टाइम, पैसे और मेहनत लगती है पर वही हम बात करे डिजिटल मार्केटिंग की तो इससे आप बोहोत कम समय , पैसे और मेहनत में कर सकते हो। और भी बोहोत सारे कारन जिसकी वजहासे डिजिटल मार्केटिंग बढ़िया है Business के लिए।

Q6. डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा पार्ट कोनसा है ?

इसका कोही सटीक जवाब नहीं है पर मुझे एसा लगता है डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा पार्ट social media है क्युकी आज हर कोही सोसिल मिडिया का इस्तमाल करता है ।

3 thoughts on “डिजिटल मार्केटिंग क्या है? (What is Digital Marketing in Hindi) इसका सम्पूर्ण ज्ञान”

Leave a Comment

Close Bitnami banner
Bitnami