Affiliate Marketing क्या है और एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे ?

Affiliate Marketing ये वर्ड तो आपने जरुर सुना होंगा कारन आज हम डिजिटल जमाने में जी रहे है, आज जमाना Treditionla Marketing का नहीं है। आज जमाना Digital Marketing का है। और इसी का एक पार्ट है Affiliate Marketing

तो आज हम इस ब्लॉग पोस्ट में जानेगे की Affiliate Marketing क्या होती है?, इसका क्या उपयोग है?, इससे आप पैसे कैसे कमा सकते है ,इसे कैसे join करना होता है इन सरे चीजो के बारे मै जानेगे।

Affiliate Marketing बहुत आसान होती पर अगर आप इसे बिना जाने करोगे तो इसे आपको बहुत जद्दा नुकसान हो सकता है।

इसलिए आपको इस चीज के बारे में जानना चाहिए। इसलिए आप इस ब्लॉग पोस्ट द्यान से और पूरा पढिये। मै आपको गारेंटी देता हु , अगर आप इस पोस्ट को आछेस पड़ते हो तो आपको बेसिक्स ज्ञान मिल जायेगा एफिलिएट मार्केटिंग के रिलेटेड तो इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा पढिये।

आपको अगर इसके रिलेटेड अगर कुछ पता भी है, या फिर आप इसके बादशाह भी हो, तो भी आपको एक न एक चीज जरुर नयी सिखाने को मिलेगी ।

इस पोस्ट में हम इसके बारे में जानेगे

  1. Affiliate Marketing क्या होती है? (What is Affiliate Marketing in Hindi)
  2. Affiliate Marketing के फायदे और नुकसान (Affiliate Marketing Advantages and Disadvantages in Hindi)
  3. Affiliate Marketing कैसे करे और इससे पैसे कैसे कमाए ?
  4. एफिलिएट मार्केटिंग से सम्बंदित कुछ जरुरी परिभाषाएँ
  5. एफिलिएट Program क्या होते है और इसे कैसे ज्वाइन करे ?
  6. Affiliate Marketing करने के मुख्य तारीखे
  7. इस पोस्ट में हमने इन चीजों के बारे में जाना?
  8. संबंधित प्रश्न

1) Affiliate Marketing क्या होती है?(What is Affiliate Marketing in Hindi)

Affiliate-Marketing-क्या-है

Affiliate Marketing का मतलब है, की किसीभी ऑनलाइन जरिये का उपयोग करके किसी और के प्रोडक्ट और सर्विसेस को बेचना और इसके बदले में उस प्रोडक्ट के मालिक से कुछ commission लेना, इस प्रोसेस को हम Affiliate Marketing कहते है। “

Affiliate Marketing डिजिटल मार्केटिंग का पार्ट है। इसलिए इसमें सब ऑनलाइन ही होता है ।

इसमें कोहिभी कंपनी जो की आपना प्रोडक्ट बेचना चाहती है, और जो उस प्रोडक्ट को बेचना चाहता है, या उसके पास ट्राफिक है जो उस प्रोडक्ट को लेना चाहती है। उसे वे कंपनी उसको आपने प्रोडक्ट के बारे मैं बता कर उसको एक unique link देता है।

तो उस लिंक से जो भी प्रोडक्ट लिया जाता उससे उसको, यानि जिसको link दिया था उसे वे कंपनी से commission मिलाता है।

पर इसमें एसा नहीं है की कंपनी वाले आपको आप्रोच करगे तभी आप ये कर सकते, आप उनकी वेबसाइट पे जाकर उनका Affiliate Program Join भी जोइन कर सकते है। उपर मैंने सिर्फ समजने के लिए कहा था।

तो ये बहुत सिंपल प्रोस्सेस है, पर हमें इसमें जरूरत होती है ट्राफिक की और ये बहुत मुसकिल काम है।

इसमें एसा नहीं है की आज आपने सोचा और कोही Affiliate Program Join किया और कल से ही पैसे आने शुरू हो जायेगे, एसा अगर आप सोचते हो तो आप गलत हो तो सायद ये फिल्ड आपके लिए नहीं है ।

इसमें समय और महेनत दोनों आपको देनी होंगी तभी आप इस फिल्ड में सफल हो सकते हो ।

2) Affiliate Marketing के फायदे और नुकसान (Affiliate Marketing Advantages and Disadvantages in Hindi)

Affiliate Marketing Advantages and Disadvantages in Hindi

Affiliate Marketing बहुत आछी चीज है पर किसीभी चीज के Advantages and Disadvantages होते है, अगर कोही चीज हर किसी के लिए आछी या भूरी नहीं हो सकती ।

और कोही भी काम स्टार्ट करने से पहले उसके फायदे और नुकसान जानना जरुरी। इसलिए हम Affiliate Marketing Benefits और Affiliate Marketing Disadvantages को एक-एक कर जानते है।

1) Affiliate Marketing Benefits

  1. एक Affiliates इसको फ्री मै भी सुरु कर सकता है।
  2. कंपनी को भी जबतक कोही सेल नहीं होती तबतक उसे भी कोही Commission देने की जरूरत नहीं होती।
  3. Time की कोही पावंदी नहीं होती इसे आप पार्ट टाइम में भी कर सकते हो।
  4. Customer को वे उसी प्राइस में मिलाता है इसीलिए Affiliates को बेचने में कोही प्रोब्लेम नहीं होती।
  5. एक Affiliates आनेक कंपनी साथ जुड सकता है।
  6. Affiliates Unlimited पैसे कामा सकता है ।
  7. Affiliate Marketing को कोही भी कर सकता है इसके लिए कोही Criteria नही है ।
  8. Affiliate Marketing के लिए आप किसीभी ऑनलाइन मिडिया का उपयोग कर सकते है
  9. दुनिया के किसीभी हिस्से मै Affiliate Marketing कर सकते है ।
  10. इसमें जयादा ज्ञान की आवश्यकता नहीं है ।

2) Affiliate Marketing Disadvantages

  1. Affiliate Marketing के लिए सेल्स बहुत जरुरी है।
  2. Affiliate Marketing के लिए आपके पास ट्राफिक होना जरुरी है।
  3. कही Affiliates पैसे कमाने के लिए फेक ट्राफिक का इस्तमाल करते है, इससे कंपनी को बहुत नुक्सान होता है।
  4. कही कंपनिया Affiliates को धोखा देती है, सेल्स होने पर भी उन्हें पैसे नहीं देती।
  5. Affiliate Marketing का उपयोंग करकर लोग low quality प्रोडक्ट बेचते है।

3) Affiliate Marketing कैसे करे और इससे पैसे पैसे कैसे कमाए ?

Affiliate Marketing कैसे करेऔर इससे पैसे पैसे कैसे कमाए

1) Niche निछित करे

Affiliate Marketing करने के लिए सबसे पहले आपनी निक्ष निछित करे, हो सके तो निक्ष वाही सल्लेक्ट करे जिसे आपको इंटरेस्ट हो। क्युकी बादमे उसे continue नहीं कर पते और आपको आपने काम रूचि नहीं रहती।

2) Niche के related research करे

इसके बाद आपने निक्ष के रिलेटेड रिसर्च करे, जैसे आपके निक्ष के निचे कितना कॉम्पीटिशन, आपके निक्ष के प्रोडक्ट्स की डिमांड है भी या नहीं ये सारी चीजी।

3) Affiliate Programs या Affiliate Network को research करे

एक निक्ष डिसाइड करने के बाद उसके सब्न्दित Affiliate Programs या Affiliate Network को ढूंढें पर एक बात द्यान रहे की Affiliate Network पर पूरी रिसर्च करे की ये सही हे भी या नहीं।

4) Affiliate Programs या Affiliate Network को जॉइन करे

उसके बाद आपको जिस्भी देश मै Affiliate Marketing करनी है उस देश का उसका Affiliate Programs जॉइन करे अकाउंट बनाकर।

5) एक डिजिटल मद्येम चुने।

अकाउंट बनाने के बाद आप किस माद्यम से प्रोडक्ट्स बेचना चाहते या आपले या आपके निक्ष के लोग कहा है ये इसके हिसाब से आपको निकलना होंगा।

6) कंटेंट बनाये

उसकेबाद उस माद्यम पे प्रोडक्ट के रिलेटेड कंटेंट बनायीं और उसी कंटेंट के भीच मै आपना Affiliate link डालिए , और आपना कंटेंट एसा बनायीं की जिससे की उस लिंक पर कोही click करे।

7) कंटेंट की मार्केटिंग करे

आपने जो भी कंटेंट बनाया है, उसे आब लोग तक पोहोचाय मतलब उसकी मार्केटिंग करे।

4) एफिलिएट मार्केटिंग से सम्बंदित कुछ जरुरी परिभाषाएँ

एफिलिएट मार्केटिंग से सम्बंदित कुछ जरुरी परिभाषाएँ

एफिलिएट मार्केटिंग शुरू करने से पहले इससे सम्बदित कुछ जरुरी परिभाषा जानना जरुरी है तो इससे सम्ब्दित कुछ जरुरी परिभाषा नीछे दी गयी है ।

1) Affiliate

affiliate का मतलब होता है की जो बंदा कंपनीज के प्रोडक्ट्स बेचानेपर कुछ commission लेता उसेही affiliate कहेते है ये बंदा सबसे जरुरी होता है ।

2) Affiliate marketplace and network

Affiliate marketplace and network वो जगहा होती है जिससे एक affiliate कंपनी के साथ और कंपनी affiliate से मिलाती है। और इस में एक नहीं आनेक कंपनी मिलकर एक नेटवर्क बनिती है। इसलिए जरुरी है ,क्युकी हर कंपनी इसको मेंटेन नहीं कर सकती है, ये बहुत ही costly होता है ।

3) Affiliate ID

Affiliate id एसी id होती है जो एक affiliate जब कोहिभी affiliate प्रोग्राम ज्वाइन करता है तो उसका एक unique id दी जाती है। जिससे की affiliate की सेल्लिंग और बाकि चीजे ट्रैक की जाती है।

4) Affiliate Links

Affiliate Links येसा लिंक होता है जो Affiliate को प्रोडक्ट सेल और प्रमोट करने के लिए दिया जाता है। ताकि जभी कोही उस लिंक तो कुछ करीदे तो Affiliate को कुछ मिल सके।

5) Commission

जब कोही Affiliate सेल करता है तो उसके बदले में उसको कुछ परसेंट पैसे दिए जाते है, इसेही Commission कहा जाता है। ये प्रोडक्ट और कंपनी पे डिपेंड करा है।

6) Link Cloaking

कही एफिलिएट लिंक बहुत बड़ी होती है, तो वे ठीक नहीं लगता वो viewers को आजीब लगती है। इसलिए link shortener tool का इस्तमाल कर उसे ठीक किया जाता है इसेही Link Cloaking कहते है।

7) Affiliate Manager

Affiliate को अगर को दिकत आती है तो उक्को उसमे मदत करने के लिए एक Manager होता उसेही Affiliate Manager कहते है।

8) Payment Mode

जिस जरिये या तरिखेसे पेमेंट लिया जाता उसेही Payment Mode कहा जाता है, एफिलिएट मार्केटिंग में कंपनी के हिसाब से होता है जिससे Commission दिया जाता है। जैसे कही कंपनी paypal का इस्ताल करती है तो ये Payment Mode हो गया।

9) Payment Threshold

कही कंपनीज में एक Affiliate तभी कुछ Commission दिया जाता है। जब वो minimum sell कर दे इसेही Payment Threshold कहा जाता है। ये हर कंपनीज के अनुसार अलग होता है।

5) एफिलिएट Program क्या होते है और इसे कैसे ज्वाइन करे ?

कंपनी ने एफिलिएट करने के लिए जो प्रोग्राम या वेबसाइट बनायीं होती उसे एफिलिएट Program कहते है जहासे एफिलिएट कंपनी से जुड़ सके।

एफिलिएट Program ज्वाइन करने के लिए आप google में सर्च करके एक एफिलिएट Program को खोज सकते है।

नीछे एफिलिएट Program ज्वाइन कैसे करे इसके उधारन के लिए amazon affiliate को कैसे ज्वाइन करे इसके बारे मैं बताया गया है

How to Join Amazon Affiliate Program in Hindi

1) Amazon Affiliate Program को ज्वाइन करने के लिए सबसे पहले हमें जिस देश में Affiliate मार्केटिंग करनी है उस देश की Amazon Affiliate के वेबसाइट खोलनी होती है। यहापर हम उधारन के लिए हम यहाँ पे इंडिया की Amazon Affiliate की वेबसाइट खोलते है।

AMEZON

2) इसके बाद आपको Sign up बटन पर क्लिक करना होंगा इसके बाद आप Sign up पेज पर आजावोगे ।

singup-amezon

3) sign up page खोलने पे यहाँ पे जो डाटा मग रहा वो बरे इसके बाद प्राइवेसी policy को पड़कर create your amazon account बटन पर click करे।

4) इसके बाद ऊपर जैसा पेज दिख रहा वैसे पेज ओपन होंगा इसमें जो information मागी उसे सही से भरे इसके बाद नेक्स्ट बटन पर क्लिक करे। इसतरह चार पेज आपके सामने आयेगे उसे एक- एक कर सहिसे बारे ।

5) ये होने के बाद के बाद आपको एक dashbord दिया जायेगा। इस्त्र्हसे आपका अकाउंट बन जायेगा और आप अमेज़न के जुड़ जाओगे।


7) Affiliate Marketing करने के मुख्य तारीखे

Affiliate Marketing करने के मुख्य तारीखे यानि मद्येम निचे दिए गए जहासे जादातर लोग Affiliate Marketing करते है, और आप भी आसानी से यहाँ पे कर सकते है।

1) YOUTUBE

youtube एक बहुत अच्छा जरिया है जहासे आप विडियो बनाकर Affiliate प्रोग्राम को प्रमोटे कर सकते है। और आछेसे लोग ट्राम के लिए एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है।

यहापर आप रिविव प्रोडक्ट जैसे टॉप 10 इ-बुक और आपके रिलेटेड टॉपिक विडियो में इसे प्रमोटे कर सकते है, इसे कही तरिखोसे आप youtube से Affiliate मार्केटिंग कर सकते है।

2) Blog

ये सबसे जादा इस्तमाल किया जाने वाला तारीख है यहाँ पे आप भाहूत सरे तरिखेसे एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है, जो भी youtube में कर सकते उससे भी जादा तरीखे का इस्तमाल यहाँ पे आप कर सकते है।

3) Social Media

social media एक अच्छा जरिया है जहासे आप आसानी से मार्केटिंग कर सकते है। इसमें आप किसी एक चेंनेल के द्वारा भी कर सकते है जैसे की इंस्टाग्राम

7) इस पोस्ट में हमने इन चीजों के बारे में जाना?

इस पोस्ट हमने सबसे पहले जाना की Affiliate Marketing क्या होती है? मतलब ये चीज होती क्या है ये कैसे काम करता है ये सारी चीजे।

इसके बाद हमने इसके फायदे और नुकसान जाने की क्या फायदे और क्या नुकसान है। इसके बाद इसे कैसे कर सकते और पैसे कैसे कमा सकते इसे स्टेप by स्टेप समजा।

और इसके कुछ परिभाषा को समजा और अंत में हमने प्रोग्रम कैसे ज्वाइन करे और Affiliate Marketing करने के मुख्य तारीखे जाने।

इस प्रकार हमने एफिलिएट मार्केटिंग के सम्बंदित चीजे जानी और अचेसे समजा अगर आभिभी आपको कोही दिकत है तो आप कमेंट कर सकते हो।

8) संबंधित प्रश्न

1) Affiliate Marketing से कितने पैसे कमाए जा सकते है ?

इस का कोही सटीक जवाब नहीं है क्युकी इस्सके आप कितने भी पैसे कमा सकते हो। और कुछ भी नहीं कम सकते ये पूरी तरहसे आप कितनी सेल करते और कोनसे कंपनी का कोनसा प्रोडक्ट सेल करते है इसपर निर्बर करता है।

2) Affiliate Marketing मे CPM क्या होता है?

CPM यानि Cost Per Mille का मतलब होता है, की Affiliate Links के ऊपर जितने  impressions होंगे उसके हिसाब से Affiliate को पेमेंट मिलाता है।

3) Affiliate Marketing मे CPS क्या होता है?

CPS यानि  cost-per-sale  का मतलब होता है की Affiliate Links से जीतनी सेल होती है उसके हिसाब से Affiliate को पेमेंट मिलाता है।

4) एफिलिएट मार्केटिंग मे CPC क्या होता है?

CPC यानि Cost Per Click का मतलब होता है की Affiliate लिंक पर क्लिक करने के बाद Affiliate को पेमेंट मिलता है इसीको ही CPC कहते है ।

Leave a Comment

Close Bitnami banner
Bitnami